Daily News
Sunday, 23 November, 2014
 |   |   |   |   |   |   |   |   |   |   | 
बिना चीरफाड़ पाइल्स का इलाज
Sunday, September 26, 2010, 00:24 hrs IST
Email Print Comment min  max | Bookmark and Share
जयपुर। अब पुरानी तकनीक से चीरफाड़ कर पाइल्स का इलाज करने की आवश्यकता नहीं है। नई तकनीक हेमराइडल आर्टरी लाइग्रेशन रेक्टोएनल रिपेयर में केवल नसों को पहचान कर बंद कर दिया जाता है। इससे पाइल्स को खून मिलना बंद हो जाता है और बवासीर के मस्से सिकुड़ जाते हैं। ये जानकारी डॉ. दिनेश शाह ने एसोसिएशन ऑफ कोलन एंड रेक्टल सर्जन्स ऑफ इंडिया की ओर से बिड़ला सभागार में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में दी।

डॉ. शाह ने बताया कि रविवार को इस नई तकनीक से दुर्लभजी अस्पताल में ऑपरेशन किया जाएगा, जिसका सीधा प्रसारण बिड़ला सभागार के सम्मेलन में होगा। मुंबई से आए एसडी चिवड़े ने बताया कि अब गुदा द्वार पर होने वाली फिस्टुला इन एनो (एक तरह की फुंसी) का इलाज कोर सर्जरी से किया जाने लगा है।
More Stories Top News
jaipur news एक फीसदी कमीशन था 15 लाख रूपए
jaipur news जेडीए पर 10 लाख रूपए हर्जाना
jaipur news 12 दिन बाद बढ़ा दिन का तापमान
jaipur news महिलाओं में दिखा ज्यादा उत्साह
jaipur news जनता ने चुना अपना पाष्ाüद, रिजल्ट 25 को
jaipur news जेडीए ने लिए "घटिया निर्माण" के नमूने
jaipur news ट्रक ने किशोरी को कुचला, लोगों ने लगाया जाम
jaipur news हाथी पर आए वोट डालने
jaipur news पर्दानशीं की पहचान में विफल रहा प्रशासन
jaipur news असवाल के खिलाफ आरोप पत्र पेश
Copyright © Daily News. All rights reserved.